에세이 대여 | 힌디어 | 토지 | 경제학

다음은 특히 힌디어로 된 학교 및 대학생을 위해 작성된 '임대'에 대한 에세이입니다.

에세이 # 1. लगान का अभिप्राय ( 임대의 의미) :

आय का वह भाग जो भूमिपतियों को उनकी भूमि के प्रयोग के बदले दिया जाता है, लगान कहलाता है।

डिवाड रिकार्डो के अनुसार, ”लगान भूमि की उपज का वह भाग ह् जो भू-स्वामी को भूमि की मौल 생

더 알아보기

प्रतिष्ठित अर्थशास्त्रियों के अनुसार लगान केवल भूमि को ही प्राप्त होता है। आधुनिक अर्थशास्त्री इस विचार से सहमत नहीं हैं।

आधुनिक अर्थशास्त्री श्रीमती जॉन रॉबिन्सन (부인 조안 로빈슨) के अनुसार, "लगान के विचार का सार वह आधिक्य है जो एक साधन को न्यूनतम आय के अतिरिक्त प्राप्त होता है जिसके कारण वह साधन अपना कार्य करने के लिए प्रेरित होता है."

, स प्रकार, आधुनिक अर्थशास्त्रियोकक लिए लगान एक सामान्य पुरस्कार है जो किसी भी उत्पत पा े 생 आधुनिक अर्थशास्त्रियों के विचार में प्रत्येक साधन लगान प्राप्त कर सकता है यदि उसमें सि पा 생린

에세이 # 2. लगान के प्रकार ( 임대 유형) :

1. कुल लगान (총 임대료) :

साधारण भाषा में लगान का अर्थ कुल लगान ही होता है, आर्थिक लगान नहीं होता। भूमि का पपररोोउ भू-स्वामी जब भूमि को काश्तकार को प्रयोग के लिए देता है तो वह जोख 생

इस प्रकार भूस्वामी को आर्थिक लगान ही प्राप्त नहीं होता बल्कि उसके द्वारा लगायी पूँजी पर ब्याज, भूमि के प्रबन्ध के लिए मजदूरी और जोखिम का पुरस्कार भी मिलता है.

다음 페이지로 이동하십시오 : टक हैं : टक हैं :

(i) आर्थिक लगान

(ii) भूमि सुधार में लगाई गई पूँजी पर ब्याज

(iii) भूमि प्रबन्ध का व्यय

(iv) -ू-स्वामी द्वारा उठाये गये जोखिम का पुरस्कार

2. (र्थिक लगान (경제 임대료) :

केवल भूमि के प्रयोग के बदले दिया जाने वाला पुरस्कार आर्थथकक लगान कहलाता है। रिकार्डो के अनुसार आर्थिक लगान एक शुद्ध लगान है जो श्रेष्ठ भूमि VIDEO र सीमान्त भूमि की उपम के प 생생 ुनिक अर्थशास्त्री रिकार्डो के इस विचा से सहमत नहीं थे। नके अनुसार, ”आर्थिक लगान एक साधन की अवसर लागत के ऊपर बच है।”

3. ठेके के लगान (계약 임대) :

यू-स्वामी एूं काश्तकार के बीच आपसी समझौते द्वारा निश्चित होता है। कुल लगान के अलावा काश्तकारों एवं भू-स्वामियों की सौदा करने की शक्ति भी ठेका लगान कक निर्धरररा 생 पूर्ण प्रतियोगिता की दशा में ठेका लगान एवं आर्थिथ लगान एकसमान होते हैं। जब ठेका लगान आर्थिक लगान से अधिक हो तो इसे अत्यधिक लगान (Rack Rent) कहा जाता है।

ठेके का लगान भूमि की माँग एवं पूर्ति पर निर्भर करता है। यदि भूमि की माँग पूर्ति की तुलना में अधिक है तब काश्तकारों में भूमि की प्राप्ति के लिए अधिक प्रतियोगिता होगी जिसके कारण आर्थिक लगान से ठेका का लगान ऊँचा होगा. इसके विपरीत, भूमि की पूर्ति माँग की तुलना में अधिक होने पर भू-स्वामियों में भूमि को काश्तकारों को देने के लिए उपयोगिता होगी जिसके कारण ठेके का लगान आर्थिक लगान से कम हो जायेगा.

4. स्थिति लगान ( 상황 임대) :

भूमि की स्थिति के अन्तर के कारण जो लगान उत्पन्न होता है उसे स्थिति लगान कहते हैं। उदाहरण के लिए 님이 새로운 사진을 공유했습니다

5. दुर्लभता अथवा सीमितता लगान (Scarcity Rent) :

आधुनिक अर्थशास्त्रियों के अनुसार लगान साधन की दुर्लभता के कारण उत्पन्न होता है। जब किसी साधन की पूर्ति उसकी माँग के सापेक्ष दुर्लभ हो तो तो लगान की समस्या उत्पन्न होती है। दूसरे शब्दों में कहा जा सकता है कि उत्पादन के प्रत्येक साधन को लग 생

에세이 # 3 . लगान उत्पत्र होने का कारण ( 경제 임대료 산정 방법) :

ुनिक अर्थशास्त्री साधन की सापेक्षिक सीमितता को लगान उत्पन्न होने का कारण मानते हैं। दूसरे शब्दों में, जब साधन की पूर्ति माँग की तुलना में कम होती है तब लगान उत्पन्न होत है। इस प्रकार साधन की पूर्ति लोच ही लगान का निर्धारण कर सकती है।

उत्पत्ति के साधनों की पूर्ति से सम्बन्धित तीन स्थितियाँ हो सकती हैं :

에이. पूर्णतः लोचदार पूर्ति (완벽하게 탄력있는 공급) – अथवा अविशिष्ट साधन (완전히 비특이적 요인) :

किसी साधन की माँग में परिवर्तन होने पर यदि उसकी पूर्ति में परिवर्तन हो जाए तब वह उप्प प 생 इसके फलस्वरूप साधन की कीमक में भी परिवर्तन नहीं होगा। दूसरे शब्दों में, पूर्णतः लोचदार पूर्ति वाला साधन पूर्णतया अविशिष्ट होता है।

औसी स्थिति में साधन की वास्तविक आय VIDEO र हस्तान्तरण आय बराबर होगी अर्थात् साधन को कोई लो 생생 चित्र 3 में पूर्णतया अविशिष्ट साधन की पूर्णतया लोचदार पूर्ति को दिखाया गया है।

पूर्ति वक्र क्षैतिज रेखा के रूप में SS 1 님이 추가 했습니다 ऐसे साधन को को को को को को को कोल लोान प्राप्त नहीं होता है क्योंकि साधन की कुल कीमत OSEQ에 대한 OSEQ 시스템 운영 체제 अतः लगान = वास्तविक आय - हस्तान्तरण आय, सूत्रानुसार, लगान शून्य के बराबर होगा क्योंकि ऐसी परिस्थिति में साधन को हस्तान्तरण आय के ऊपर बचत प्राप्त नहीं होती.

비. पूर्णतः बेलोचदार पूर्ति (완전히 비탄력적인 공급) – अथवा पूर्ण विशिष्ट साधन (완전히 특정한 요인) :

यदि साधन की माँग में परिवर्तन होने पर (कमी होने अथवा वृद्धि होने पर) साधन की पूर्ति स्थिर रहती है तब ऐसी दशा में पूर्ण बेलोच पूर्ति वाला साधन पूर्ण विशिष्ट हो जाता है. Z सी स्थिति में हस्तान्तरण आय शून्य (Zero) होगी तथा साधन की वास्तविक आय ही लगान होगी।

ऐसी पूर्ण बेलोच पूर्ति वाल 생 거리, 거리, 거리, 거리, 거리, 거리

4 월 4 일부터 현재까지 द द स स्थिति को दिखाया गया है। SS는 से ा साधन की पूर्णतः बेलोच पूर्ति को बतलाती है। DD माँग रेखा को प्रदर्शित करती है। 운영 체제 OP = ES 운영 체제 OP = ES 운영 체제 운영 체제 OPSE 운영 체제 운영 체제 OPSE 운영 체제 운영 체제 OPSE

इस स्थिति मे 생생 सी दशा में, लगान = वास्तविक आय – हस्तान्तरण आय, सूरानुसार सम्पूर्ण वास्तविक आय OPSE लगा के बबा 생 거리, 거리, 거리, 거리, 거리, 거리

씨. ( 완전히 탄력적 인 공급보다 적음) ( 완전히 탄력적 공급보다 적음) : (일부 특정 및 부분 비특이적 요인) :

जब किसी साधन की माँग बढ़ने पर उसकी पूर्ति उस अनुपात में न बढ़कर कम अनुपात में बढ़ती है तब ऐसी स्थिति में साधन की पूर्ति की लोच पूर्ण लोच से कम होती हैतथा वह साधन आंशिक विशिष्ट तथा आंशिक अविशिष्ट बन जाता है. ऐसी स्थिति में साधन की वास्तविक आय उसकी हस्तान्तरण आय से अधिक होगी तथा वास्तविकआआ

साधन जिस सीमा तक दूसरे प्रयोग में माँगा जाता है उस सीमा तक वह अविशिष्ट (Non-specific) साधन की यही विशिष्टता लगान उपस्थित करती है।

5 월 5 일 5 월 5 일 5 월 5 일 5 월 5 일 5 월 5 일 5 월 5 일 5 월 5 일 5시 5 분 OS 운영 체제 운영 체제 운영 체제 운영 체제 (OS) 운영 체제 운영 체제 운영 체제 운영 체제 (OS) OS 운영 체제 운영 체제 운영 체제 운영 체제 OQ 1, OQ 2, OQ 3 तथा OQ मात्रा को प्रयोग में लान के लिए साध ड ब ो ए ड ् ड 생

इस प्रकार साधन पूर्ति रेखा SS 1 के विभिन्न बिन्दु K, R, T तथा E साधन की विभिन्न मात्राओं (क्रमशः OQ 1 OQ 2 OQ 3 तथा OQ) के लिए उन न्यूनतम कीमतों को बताते हैं जिन पर उस साधन की तत्सम्बन्धित मात्राएँ ( 해당하는 수량)) ह्रियाशील होती हैं। चित्र में छायादार भाग लगान को बताता है।

उदाहरण के लिए ,

साधन की OQ मात्रा के लिए,

हस्तान्तरण आय = OSEQ 관련 질문

वास्तविक आय = OPEQ 관련 질문

अतः, लगान = क्षेत्र OPEQ – क्षेत्र OSEQ = क्षेत्र SPE

इस प्रकार उत्पत्ति का कोई भी साधन लग 생기 दूसरे शब्दों में, लगान का आधुनिक सिद्धान्त एक वास्तविक सिद्धान्त है जो उत्पत्ति के प्रत्येक साधन पर क्रियान्वित होता है.

संक्षेप में , लगान के आधुनिक सिद्धान्त को निम्नलिखित बिन्दुओं पर स्पष्ट किया जा सकता है :

(1) जब उत्पत्ति के साधन की पूर्ति पूर्ण बेलोच होती हैतत उसकी सम्पूर्ण आय आर्थिक लग 생

(2) जब उत्पत्ति के साधन की पूर्ति पूर्ण लोचदार होती है तब उसकी सम्पूर्ण य हस्तान्तरण आय कब 생생 इस प्रकार इस दशा में कोई आर्थिक लगान उत्पन्न नहीं होता।

(3) जब उत्पत्ति के साधन की पूर्ति पूर्ण लोचदार से कम हो तब उसकी आय में आर्थिक लगान सम्मिलित रहपा 생 पूर्ति में बेलोच का अंश जितना अधिक होगा उतना ही आर्थिक लगान अधिक होगा। दूसरे शब्दों में, साधन में विशिष्टता का गुण जितना अधिक होगा आर्थिक लगान भी उतना ही अधिक होग 생।

(4) आर्थिक लगान का विचार केवल भूमि से ही सम्बन्धित न होकर उत्पत्ति के प्रत्येक साधन से सम्बन्सि सम बन। 생 사진 더보기, 추가하기, 쓰기 시작하기

 

귀하의 코멘트를 남겨